ईख कास्तकार संघ के कार्यकर्ताओं ने किया विरोध प्रदर्शन

Spread the love

सुशील कुमार सोनी, बगहा (प0च0) :- कृषि कार्य के लिए ट्रैक्टर- ट्रॉली पर व्यवसायिक शुल्क समाप्त करने को लेकर गुरुवार को ईख कास्तकार संघ के कार्यकर्ताओं एवं आम किसानों ने बगहा दो ई किसान भवन परिसर से विरोध प्रदर्शन करते हुए प्रखण्ड परिसर एवं एनएच 727 एवं अनुमंडल कार्यालय के समक्ष पहुँचकर विरोध प्रदर्शन किया। वही ईख कास्तकार संघ, बिहार ढ़ढी बगहा पश्चिम चंपारण के प्रदेश अध्यक्ष छोटे श्रीवास्तव एवं किसान लालबाबू यादव, राजकिशोर साह, अमरनाथ प्रजापति, चंद्रभूषण सिंह, नागेंद्र पाल, संजीव कुमार गुप्ता, रामाकांत पंडित, अशोक पंडित, संजय सिंह, रामायण पटक, छोटेलाल चौधरी, सोहन कुमार, गुड्डू कुमार, मुन्ना पंडित, हरीश चौधरी, भरत यादव, शंभू कुशवाहा, पृथ्वी नाथ महतो, नाथूराम चौधरी, रविंद्र यादव, जितेंद्र प्रसाद विजय चौधरी, नंदलाल ने प्रदर्शन किया। वही उन किसानों का कहना है कि पहले ट्रैक्टर ट्रॉली पर कृषि कार्य के लिए निबंधन शुल्क का नियम था। परंतु कुछ सालों से कृषि कार्य को भी व्यवसायिक शुल्क नियम में रख दिया गया हैं। जबकि किसान मात्र तीन, चार महीना ही ट्रैक्टर ट्रॉली का उपयोग कृषि कार्य के लिए करता है।इन दिनों में किसान खेत से गन्ना लेकर चीनी मिल तक आता है। और बाकी दिनों में खेत में ही काम करता हैं। इसके बाद ट्रैक्टर ट्रॉली किसानों के दरवाजे पर ही खड़ा रहता है। वही पड़ोसी राज्य उत्तरप्रदेश या अन्य राज्यों में कृषि कार्य के ट्रैक्टर का निबंधन शुल्क लगभग तीन हज्जार रुपये के आसपास में हो जाता हैं। तथा ट्रेक्टर पर निबंधन शुल्क नही देना होता है। तथा फिटनेस भी नहीं है। जबकि हमारे राज्य में ट्रैक्टर पर 30 से 35 हजार रुपये और ट्रैक्टर पर निबंधन शुल्क में पच्चीस हजार रुपये एवं फिटनेस शुल्क प्रति वर्ष दो हजार रुपये किसानों को देना पड़ता हैं। इसके अलावा फिटनेस का समय सीमा समाप्त होने पर पच्चास रुपये प्रति दिन के दर से फाइन किसानों को देना पड़ता हैं। जो किसानों के साथ बहुत अन्याय हैं। उपरोक्त समस्याओं के आलोक में हम किसानों की निम्निलिखित मांगे हैं। कृषि कार्य के लिए ट्रैक्टर व्यवसायिक निबंधन शुल्क बंद किया जाए। कृषि कार्य के लिए ट्रैक्टर पर भी निबंधन शुल्क को समाप्त किया जाए। सभी प्रखंडों में कैंप लगाकर ड्राइविंग लाइसेंस बनाया जाए।जिसमें उम्र के प्रमाण पत्र के लिए आधार कार्ड में अंकित जन्मतिथि वाले को मान्यता दिया जाए। कृषि कार्य के लिए सभी पुराने ट्रैक्टरों का बकाया कर 2019 से ही किया जाए। वही ईख कास्तकार संघ के कार्यकर्ताओं ने अपनी मांग पत्र को बगहा अनुमंडल पदाधिकारी, जिला पदाधिकारी सहित मुख्यमंत्री को भेजा। मौके पर तमाम ईख कास्तकार संघ के कार्यकर्ता सहित तमाम आम किसान उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *