बिहार के शेखर चौरसिया उत्तर प्रदेश रत्न 2019 से लखनऊ मैं हुए संम्मानित।

ब्यूरो/कृष्णप्रताप चंद्रवंशी

उतर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में हिन्दू सनातन महासभा के द्वारा गोमती तट पर आयोजित गोमती महोत्सव स्वछ गोमती स्वच्छ लखनऊ में” व्रजेश पाठक कैबिनेट मंत्री उत्तर प्रदेश संयोजक नमो भारत कार्यक्रम” प्रसिद्ध जादूगर ओपी शर्मा” प्रसिद्ध कॉमेडियन राजू श्रीवास्तव “स्वामी यदुनाचार्य जी महाराज श्रीमद्भागवत कथा वाचक “कौटिलीय आईएएस अकादमी की उपस्थिति मैं लखनऊ निर्वाचन आयोग पी . सी चौधरी नीता आर्य विनीत आर्य , बिहार के रास्ट्रीय पैरा एथलीट को उत्तर प्रदेश लखनऊ रत्न 2019 से संम्मानित किए।

बिहार के एक छोटे से गाँव गुनसेज से तलूक रखनेवाले शेखर चौरसिया के लिए इस मुकाम पर पहुँचना आसान नही था 2010 मैं अपनी शारीरिक शैली बदलने के बाद परिवार मैं 6 बच्चों मैं सब से बड़े शेखर पहले गांव के दोस्तो के संग क्रिकेट खेलते थे । पर 2010 मैं एक्सडेंट मैं अपनी एक पैर एक हाथ खोने और अपनी शारीरिक प्रक्रिया पूरी तरह बदलने के बाद ,स्थानीय कोचों ने पैरा एथलेटिक्स मैं हाथ आजमाने की सलाह दी । सस्ते जूते पहनकर खेलो इंडिया पैरा डिस्ट्रिक्ट गेम मैं 400 ,800 1500 मीटर रेस मैं गोल्ड जीता तो एथलेटिक्स कोच संदीप कुमार भी हैरान रह गए । वह शेखर को गांव से 160 किमी दूर पटना लाये जहाँ नेशनल स्टेंडर्ड के स्पाइक्स पहनने को मिले इसके बाद शेखर ने पीछे मुड़कर नही देखा ।

अपनी कठिन मेहनत के दम पर शेखर ने बिहार के लिए 2018 मैं रास्ट्रीय स्तर पर 400 ,800 ,1500 मीटर मैं गोल्ड मेडल।अपने नाम किया इसके बाद ऐसी रफ्तार पकड़ी की सब को पीछे छोड़कर दिव्यांग श्रेस्ठ 2018 एथलिट बने ।आजतसत्रु नेशनल आवर्डस बिहार ” बिहार राज्य श्रेस्ठ खेल संम्मान 2018 बिहार ,बिहार स्टेट राज्य खेल सम्मान 2018 ,भारत रत्न अटल एक्सलेंस आवर्डस , दिल्ली दिव्यांग रत्न 2018 , साई रत्न दिल्ली भरतीय प्रतिभा गौरव खेल सम्मान हरियाणा 2019, कई बड़ी उपलब्धि हासील किया।

” गोमती तट पर जब राष्ट्रगान बजा तो शेखर के आंखों से आँसू छलक पड़े। शेखर का जन्म बिहार के रोहतास जिले के एक छोटे से गांव गुनसेज के एक बेहद साधारण परिवार मैं हुआ । पिता दिनदयाल चौरसिया के पास महज घर के सिवा कुछ भी नही है। माँ घरेलू महिला है।छोटा भाई ,सोनू चौरसिया सूरत मैं कपड़े की दुकान पर काम करते हैं जो कुछ पैसा मिलता है वही चौरसिया परिवार के आठ सदस्यों की रोजी -रोटी का जरिया है।

Spread the love
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *