फ़िल्म निर्देशन के क्षेत्र में रोहित पाण्डेय जिले का नाम कर रहे रोशन,अपने फ़िल्म के माध्यम से लोगों को कर रहे हैं जागरूक।

ब्यूरो/कृष्णप्रताप चंद्रवंशी:

एहसास और टीस की सफलता के बाद निर्देशक रोहित पांडेय की अगली शार्ट फ़िल्म समइया रिलीज हो गयी है।

समइया एक ऐसी फिल्म है जो समय के महत्त्व को दर्शाती हुई आँखों के पटल खोलती नज़र आती है ,समय रहते न संभले तो ,समय तक साथ नहीं देता ,तो बाकी चीजों से उम्मीद बेमानी है ।

Irohit Films के बैनर तले बनी लघु फ़िल्म समइया समय की महत्ता बतलाती है।
इसको समय कह लीजिये ,या वक़्त का पहलू
ये किसी को न आगे आने देता है ,न आप इसके आगे आ सकते हैं ।समय को दरकिनार नहीं कर सकते ।

समय की महत्ता उनको क्या पता ,जिसके साथ समय ने कोई खेल न रचा हो ।
समय के साथ चलिये , समय साथ हो तो सब साथ होंगे क्यूँ कि समय बुरा होता है तो ,सब साथ छोड़ते हैं ।समय ही असली चेहरा दिखाता है ,सच्चे ,अच्छे ,बुरे लोगों का दोहरा चेहरा भी बेनकाब करता है।

फ़िल्म निर्देशक रोहित पांडेय सिवान जिले के रघुनाथपुर प्रखंड के लोहबरा गांव के जयप्रकाश पांडेय के पुत्र हैं।

जिनका कुछ समय जर्नलिस्ट के क्षेत्र में बिता है और अब अपने क्षेत्र के साथियों के साथ मिलकर अच्छे और साफ-सुथरे शार्ट फ़िल्म बनाने का शुभारम्भ कर चुके हैं।इनका कहना है की हमने जितने भी शार्ट फ़िल्म बना रहे है अपने देश के अंदर और समाज में हो रहे सभी तरह के गतिविधियों में बदलाव लाने के मकसद से है।मेरा अगला फ़िल्म शिक्षा के क्षेत्र को देखते हुए बनेगा।

यह फ़िल्म मकरसंक्रांति के शुभ अवसर पर iroht films के यूट्यूब चैनल (www.youtube.com/irohitfilms)पर 14 जनवरी को रिलीज हो चूका है जिसे काफी ऑनलाइन देखने वाले दर्शकों ने खूब सराहा है और गर्व की बात है की बॉलीवुड और भोजपुरी फ़िल्म के कई एक्टर एवं डायरेक्टर ने भी देखा और बधाई भी दिए हैं।
फ़िल्म समइया का लिंक:

Spread the love
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *